बारिश के बाद राहुल गांधी का अलवर दौरा टला, गैंगरेप पीड़िता से करनी थी मुलाकात

राजस्थान की कांग्रेस सरकार पर अलवर गैंगरेप मामले के आरोपियों के खिलाफ तत्काल एक्शन न लेने की आलोचना भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) चुनावी मंचों से भी कर रही थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में एक चुनावी जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा था कि दरिंदों को पकड़ने के बजाय, कांग्रेस सरकार इस मामले को दबाने में जुट गई.

अलवर जाएंगे राहुल गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का अलवर दौरा रद्द हो गया है. राहुल गांधी आज अलवर जाकर गैंगरेप पीड़िता से मिलने वाले थे. दिल्ली-एनसीआर में आज सुबह हुई बारिश के चलते फ्लाइट नहीं उड़ पाने की वजह से राहुल गांधी का अलवर दौरा रद्द कर दिया गया.  2019 के लोकसभा चुनावों में अलवर गैंगरेप का मुद्दा छाया हुआ है. राजस्थान की कांग्रेस सरकार पर विपक्षी दलों द्वारा लगातार हमले जारी हैं.

राजस्थान की कांग्रेस सरकार पर अलवर गैंगरेप मामले के आरोपियों के खिलाफ तत्काल एक्शन न लेने की आलोचना भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) चुनावी मंचों से भी कर रही थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में एक चुनावी जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा था कि दरिंदों को पकड़ने के बजाय, कांग्रेस सरकार इस मामले को दबाने में जुट गई. उन्होंने कहा कि राजस्थान में भी चुनाव थे इसलिए कांग्रेस सरकार उस बिटिया को न्याय दिलाने के बजाय चुनाव बीतने का इंतजार करती रही. यही कांग्रेस के न्याय की सच्चाई है.

बसपा सुप्रीमो मायावती पर भी इस मामले को लेकर प्रधानमंत्री ने निशाना साधा था. पीएम के बयान पर पलटवार करते हुए मायावती ने कहा था कि नरेंद्र मोदी अलवर गैंगरेप मामले के प्रकाश में आने के बाद चुप थे. वह इस पर घृणास्पद राजनीति करने की कोशिश में हैं. वे ऐसा इसलिए कर रहे हैं जिससे उन्हें इसका राजनीतिक लाभ मिल सके.

अलवर गैंगरेप आरोपियों की गिरफ्तारी न होने की वजह से अशोक गहलोत सरकार की लगातार आलोचना हो रही थी. ऐसे में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी खुद जाकर पीड़िता से मुलाकात करने वाले थे.

राजस्थान के अलवर में एक 19 वर्षीय दलित महिला के साथ उसके पति के सामने ही 26 अप्रैल को गैंगरेप हुआ था.  कुछ लोगों ने थानागाजी-अलवर रोड पर मोटर साइकिल पर जा रहे दलित दंपति को रोका और पति की पिटाई की. उन्होंने पति के सामने महिला के साथ गैंगरेप किया. एक आरोपी ने उसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया था. घटना के बाद से राजस्थान पुलिस पर लापरवाही के आरोप लगते रहे हैं. घटना के 11 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस आरोपियों को पकड़ने में असफल रही थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *