विजय शंकर बोले- नंबर 4 नहीं, इंग्लैंड की कंडीशन से तालमेल बिठाने की कोशिश

टीम इंडिया के युवा ऑलराउंडर विजय शंकर को साल की शुरुआत में भारतीय टीम में मौका दिया गया और अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर वो इंग्लैंड और वेल्स में होने वाले क्रिकेट वर्ल्ड कप के लिए चुनी गई टीम का अहम हिस्सा हैं.

टीम इंडिया के युवा ऑलराउंडर विजय शंकर को साल की शुरुआत में भारतीय टीम में मौका दिया गया और अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर वो इंग्लैंड और वेल्स में होने वाले क्रिकेट वर्ल्ड कप के लिए चुनी गई टीम का अहम हिस्सा हैं. बेहतरीन बल्लेबाजी, गेंदबाजी  और जबरदस्त फील्डिंग की वजह से भारतीय टीम के चीफ सेलेक्टर एम.एस के प्रसाद ने विजय को ‘थ्री डायमेंशनल’ क्रिकेटर कहा. जो नंबर चार पर बल्लेबाजी कर सकता है. जिसके पास अटैक और डिफेंस का बेहतरीन कॉम्बिनेशन है और अपनी गेंदबाजी से टीम को अहम मौकों पर विकेट दिला सकता है. भारतीय टीम को लंबे समय से नंबर चार की पॉजिशन पर ऐसे होनहार खिलाड़ी की तलाश थी जो टीम को मजबूती दे सके.

‘आजतक’ के साथ खास बातचीत में विजय शंकर ने कहा कि नंबर चार स्लॉट के बारे में बहुत बात हो चुकी हैं और एक क्रिकेटर के तौर पर हमें इन सभी चीजों का सामना करना पड़ता है, ऐसे समय में अपनी खुद की ताकत पर विश्वास करना सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होता है. हमें खेल के सभी पहलुओं पर काम करना होता है. मैं सिर्फ अपनी तैयारी पर ध्यान केंद्रित करने की कोशिश कर रहा हूं और इसके अलावा कुछ नहीं सोच रहा हूं. जीवन में ये चीजें होती रहती हैं और मैंने इसके साथ रहना सीख लिया है.

मेलबर्न से लेकर माउंट माउंगानुई तक, चेन्नई के इस खिलाड़ी को अपने करियर के पहले तीन वनडे मुकाबलों में बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला था. इसके बाद वेलिंगटन में न्यूजीलैंड के खिलाफ पांचवें और आखिरी वनडे मुकाबले में उन्हें छठे नंबर पर बल्लेबाजी करने का मौका मिला. जिसमें उन्होंने शानदार 45 रनों की पारी खेली.

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू सीरीज में उन्होंने चार पारियों में कुल 120 रन बनए.  इसके बाद आईपीएल का 12वां संस्करण आया, जहां हैदराबाद सनराइजर्स के लिए खेलते हुए, शंकर ने 15 मैचों में 244 रन बनाए. इस प्रदर्शन के बाद  विश्व कप टीम में शंकर के चयन पर सवाल उठाना शुरू कर दिया.

इस पर विजय ने कहा कि विश्व कप टीम में चयन को लेकर नाराज होने वाले लोगों को ये भी ध्यान में रखना चाहिए कि मैं IPL के दौरान 13वें या 14वें ओवर में बल्लेबाजी के लिए उतरता था, तब मैं सिर्फ टीम के हित के बारे में सोचता था. जो भी बल्लेबाज 12वें ओवर के बाद बल्लेबाजी के लिए मैदान पर उतरता है वो अपनी टीम के लिए ज्यादा से ज्यादा रन बनाने की कोशिश करता है. इस साल का IPL सीजन एक अलग अनुभव रहा, सीजन के दौरान में चौथे और पांचवें स्थान पर खेल कर करीब 244 रन बनाए.

उन्होंने कहा कि मैंने यह सुनिश्चित किया कि आईपीएल खत्म करने के बाद मैंने कड़ी मेहनत की है. कोच के साथ अपनी तकनीक पर काम किया.  चौथे स्थान पर बल्लेबाज से ज्यादा उनकी कोशिश इंग्लैंड की कंडीशन से तलमेल बिठाने की होगी. जो इस समय नंबर चार स्लॉट के बारे में सोचने से ज्यादा महत्वपूर्ण है.

भले ही आईपीएल में विजय अपनी गेंदबाजी से इतना असर डालने में कामयाब न हो पाए हों. लेकिन बावजूद इसके कप्तान कोहली को उनकी गेंदबाजी पर पूरा भरोसा है, जो इंग्लैंड की परिस्थितियों में टीम के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं.

उन्होंने कहा कि मेरे लिए खेल के सभी पहलुओं पर काम करना महत्वपूर्ण है. जब से ऑस्ट्रेलिया सीरीज खत्म हुई है, तब से मैं अपनी गेंदबाजी पर काफी काम कर रहा हूं. मैंने एक अच्छे प्रभाव के लिए आईपीएल का इस्तेमाल किया. प्रत्येक अभ्यास सत्र में, मैंने अपनी गेंदबाजी पर वास्तव में कड़ी मेहनत की.  मैं केवल अपने आप को तैयार रखने का काम कर सकता हूं और मुझे टीम के लिए ऐसा करने का मौका मिलने पर तैयार रहना चाहिए.

जब क्रिकेट की दुनिया में चार नंबर स्लॉट पर बहस हो रही थी और जब भी वह आईपीएल के दौरान बल्लेबाजी करने आए तो सोशल मीडिया पर हैशटैग 3 डी ट्रेंड कर रहा था, यह उनके परिवार और दोस्त थे जिन्होंने शंकर को आगे के काम पर ध्यान केंद्रित किया.

उन्होंने कहा कि विश्व कप टीम का हिस्सा होना निश्चित रूप से किसी भी क्रिकेटर के लिए बहुत खास है. जब भी हम भारत की जर्सी पहनते हैं, यह हमारे लिए बहुत खास होती है. मेरे साथ जो भी अच्छा हुआ है, वह यह है कि मेरे परिवार और दोस्तों ने कभी इस बारे में बात नहीं की जब मैं पिछले 8-10 दिनों के दौरान घर पर था. वे बहुत सामान्य थे और जब भी मैं चेन्नई में होता हूं, मैं हमेशा अपने समय का आनंद लेता हूं.  पिछले एक सप्ताह से कठिन अभ्यास कर रहा हूं और इसके वजह से बहुत बिजी था. यह विश्व कप से पहले मेरे लिए यह सब काफी सरल और शांत रहा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *