धर्म संसद में संतों का हंगामा, राम मंदिर निर्माण की तारीख को लेकर बवाल

प्रयागराज (ब्यूरो रिपोर्ट) : कुंभ मेला क्षेत्र में आयोजित विश्व हिन्दू परिषद के धर्म संसद अधिवेशन के दूसरे दिन मंदिर निर्माण को लेकर कोई घोषणा नहीं हुई, जिसके बाद संतों ने राम मंदिर निर्माण की तारीख घोषित करने को लेकर हंगामा कर दिया. संतों ने विहिप कार्यकर्ता विवेकानंद वर्मा से बदसलूकी की.

धर्म संसद के दूसरे दिन महामंडलेश्वर अखिलेश्वरानंद ने प्रस्ताव पढ़ा, जिसमें मंदिर निर्माण को लेकर कोई घोषणा नहीं थी. महामंडलेश्वर अखिलेश्वरानंद ने कहा आंदोलन का राजनीतिकरण न हो इसलिए कोई नई घोषणा नहीं करेंगे, जिसके बाद धर्म संसद में हंगामा हो गया. वहां मौजूद संतों ने राम मंदिर निर्माण की तारीख घोषित करने को लेकर काफी हंगामा किया. साध्वी प्रियम्वदा ने 2020 में राम मंदिर निर्माण की बात की थी, जिसका संतों ने विरोध कर हंगामा किया. कोलकाता से आये कार्यकर्ताओं को मुसलमान और कांग्रेसी बोला और तारीख की मांग की. उन्होंने कहा कि ये ‘धर्म संसद नहीं धर्म संकट’ है.

आपको बता दें कि विश्व हिन्दू परिषद के धर्म संसद अधिवेशन में गुरुवार को पहले दिन राम मंदिर मुद्दे पर चर्चा नहीं हो सकी. अधिवेशन के पहले दिन केवल दो प्रस्ताव सबरीमाला मंदिर पर राष्ट्रीय अभियान चलाने और विघटनकारी शक्तियों के खिलाफ आंदोलन चलाने का प्रस्ताव पारित किया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *