पश्चिम बंगाल में हिंसा पर टकराव, शाह ने मांगी रिपोर्ट: प्रेस रिव्यू

पश्चिम बंगाल में हिंसा पर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी के बीच टकराव बढ़ता जा रहा है.

गृहमंत्री अमित शाह ने हिंसा को ममता सरकार की नाकामी बताते हुए रिपोर्ट मांगी और दोषी लोगों व पुलिस अफ़सरों पर कार्रवाई के लिए कहा है. हालांकि राज्य सरकार ने इसे केंद्र का अनावश्यक दख़ल बताया है. राज्य सरकार ने गृह मंत्रालय की एडवाइज़री को असंवैधानिक बताते हुए इसे बंगाल की जनता का अपमान बताया है.

गृह मंत्रालय ने अपनी एडवाइज़री में कहा है कि केंद्र बंगाल की स्थिति पर चिंतित है. वहां एक हफ्ते से जारी हिंसा को देखते हुए लगता है कि राज्य की क़ानून व्यवस्था पूरी तरह विफल हो गई है.

लोकसभा चुनाव और उसके बाद राज्य में कई बार टीएमसी और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़पें हुईं हैं. आठ जून को उत्तरी 24 परगना ज़िले के भांगीपाड़ा में पांच लोगों की मौत हुई. तृणमूल कांग्रेस ने इसके लिए भाजपा के कार्यकर्ताओं को दोषी ठहराया है, शनिवार रात और रविवार सुबह भी भाजपा और तृणमूल कार्यकर्ताओं में झड़प हुई.

इस बीच, पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाक़ात करेंगे. हालांकि उन्होंने इसे औपचारिक मुलाक़ात बताया है पर माना जा रहा है कि बैठक में राज्य के हालात पर भी चर्चा होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *