रिषभ पंत या साहा किसे मिलेगा मौका, भारतीय बल्लेबाज व कैरेबियाई गेंदबाज के बीच पहले टेस्ट मैच में होगीकड़ी टक्कर………

भारतीय टीम पहली विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के शुरुआती मुकाबले में गुरुवार को जब वेस्टइंडीज के सामने उतरेगी तो कप्तान विराट कोहली सटीक टीम संयोजन को लेकर जीत के साथ आगाज करना चाहेंगे……

एंटीगा के सर विवियन रिच‌र्ड्स स्टेडियम की विकेट भी तेज गेंदबाजों की मददगार है। अपने घरेलू मैदान पर खेल रही वेस्टइंडीज टीम के तेज गेंदबाजों का सामना भारतीय बल्लेबाजों के लिए आसान नहीं होगा। तेज गेंदबाज केमार रोच, शेनॉन गेब्रियल और जेसन होल्डर के आगे भारतीय बल्लेबाजों को संभलकर खेलना होगा। यहां पिछले टेस्ट में इंग्लैंड की टीम 187 और 132 रन पर आउट हो गई थी।

पिच में गति और उछाल होने पर कोहली चार विशेषज्ञ गेंदबाजों को लेकर उतर सकते हैं, जिसमें तीन तेज गेंदबाजों की जगह जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा और मुहम्मद शमी लेंगे। ऐसे में आर अश्विन और कुलदीप यादव के बीच एकमात्र स्पिनर की जगह के लिए होड़ होगी।

बल्लेबाजी संयोजन मजबूत करना कोहली के लिए माथापच्ची का काम होगा। हार्दिक पांड्या उपलब्ध होते तो कोहली ऐसी स्थिति में रोहित या अजिंक्य रहाणे में से एक को बाहर रख सकते थे। वैसे टेस्ट क्रिकेट में वेस्टइंडीज के हालिया रिकॉर्ड को देखते हुए वह अतिरिक्त बल्लेबाज को लेकर उतर सकते हैं। हरी भरी पिच होने पर कोहली पांच गेंदबाजों को भी उतार सकते हैं जिसके मायने हैं कि मुंबई के दोनों बल्लेबाजों में से एक का चयन होगा और रवींद्र जडेजा ऑलराउंडर के रूप में खेलेंगे।

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज के दौरान शतक जड़ने वाले युवा विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत को कोहली अंतिम एकादश में शामिल करते हैं या चोट के कारण लंबे समय बाद वापसी कर रहे रिद्धिमान साहा को मौका दिया जाता है। साहा ने अपना पिछला मैच पिछले साल जनवरी में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ कैपटाउन में खेला था।

यह भी देखना होगा कि मयंक अग्रवाल के साथ पारी का आगाज कौन करता है। राहुल विशेषज्ञ सलामी बल्लेबाज हैं, लेकिन ऑस्ट्रेलिया में हनुमा विहारी को उतारा गया था। अब देखना यह होगा कि इस विकेट पर विहारी को उतारा जा सकता है या राहुल को फिर से कोहली का साथ मिलेगा।

वेस्टइंडीज के पास शाई होप, जॉन कैंपबेल और शिमरोन हेटमायर के रूप में तीन प्रतिभाशाली युवा हैं। भारत के खिलाफ 2016 की सीरीज के दौरान रोस्टन चेस ने पूरा दिन अश्विन को छकाया था, जब वेस्टइंडीज पारी की हार के कगार पर था। डेरेन ब्रावो 52 टेस्ट में 3500 रन बना चुके हैं। हालांकि देखना यह भी होगा कि 140 किग्रा के स्पिन ऑलराउंडर रकहीम कार्नवाल का टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण होता या नहीं। उन्होंने घरेलू सत्र में शानदार प्रदर्शन करने के बाद विंडीज टीम में जगह बनाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *