सूडान में लोकतंत्र के समर्थन में हजारों लोग सड़क पर उतरे, प्रदर्शन के दौरान सात लोगों की मौत

खबर के अनुसार, इनके अलावा सेना के 10 जवान भी घायल हुए हैं जिनमें से तीन अर्द्धसैनिक बल रैपिड सपोर्ट फोर्स के हैं। इन्हें गोलियां लगी हैं.

लोकतंत्र की मांग कर रहे प्रदर्शनकारियों के शिविरों पर सैन्य शासकों के जानलेवा हमलों के बाद रविवार को हजारों की संख्या में लोग सड़कों पर उतरे और राष्ट्रपति भवन की ओर मार्च किया. हालांकि इस दौरान विभिन्न कारणों से सात प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई. सरकारी समाचार एजेंसी ‘एसयूएनए’ ने रविवार को स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी के हवाले से बताया, ‘‘सात लोग मारे गए हैं.” हालांकि उसने लोगों की पहचान या फिर उनके मारे जाने की वजह नहीं बतायी है. उसके अनुसार, 181 अन्य घायल भी हुए हैं जिनमें 27 लोगों को गोलियां लगी हैं.

खबर के अनुसार, इनके अलावा सेना के 10 जवान भी घायल हुए हैं जिनमें से तीन अर्द्धसैनिक बल रैपिड सपोर्ट फोर्स के हैं। इन्हें गोलियां लगी हैं. इससे पहले प्रदर्शनकारियों से जुड़े डॉक्टरों की समिति ने बताया कि दिन में पांच प्रदर्शनकारी मारे गए हैं। उन्होंने बताया कि सैन्य परिषद की मिलिशिया द्वारा चलायी गई गोलियों से कई लोग घायल हुए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *