9 दिन बाद मिला लापता AN-32 विमान का पहला सुराग, सर्च ऑपरेशन में मिले पार्ट्स

यह विमान 3 जून असम के जोरहाट से उड़ान भरा था और लापता हो गया था. इस विमान में 8 क्रू मेंबर समेत 13 लोग सवार थे.

वायुसेना के लापता एएन-32 विमान का कुछ हिस्सा मिला है. सर्च ऑपरेशन के दौरान अरुणाचल प्रदेश के लिपो के उत्तर में विमान का सुराग मिला है. विमान के बाकी हिस्सों की तलाश के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है. यह विमान 3 जून असम के जोरहाट से उड़ान भरा था और लापता हो गया था. इस विमान में 8 क्रू मेंबर समेत 13 लोग सवार थे.

भारतीय वायु सेना ने स्थानीय अधिकारियों को बताया कि विमान का मलबा एमआई 17 विमान ने ढूंढा. एमआई 17 अभी विमान की लोकेशन के ऊपर है. यह स्थान सियांग जिले के पयूम में स्थित है. वायुसेना अब यह पता लगा रही है कि जो मलबा मिला है वह क्या लापता एएन-32 ट्रांसपोर्ट विमान का ही है. विमान का मलबा लिपो से 16 किलोमीटर उत्तर में मिला है और यह इलाका टाटो के उत्तर पूर्व में स्थित है. जमीन से 12 हजार फुट की ऊंचाई पर मलबा मिला है. एमआई-17 हेलीकॉप्टर अभी भी मलबे की तलाश में लगे हैं.

खराब मौसम के बावजूद भारतीय वायुसेना के परिवहन विमान एएन-32 के लिए व्यापक तलाशी अभियान चलाया जा रहा है. विमान में 13 लोग सवार थे, जो अरुणाचल प्रदेश जाने के क्रम में लापता हो गया था. बीते बुधवार को वायुसेना ने इस विमान की तलाश के लिए एसयू-30 जेट लड़ाकू विमान, सी130 जे, एमआई17 और एएलएच हेलीकॉप्टरों को लगाया.

तलाशी अभियान असम के जोरहाट से अरुणाचल प्रदेश के मेचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड के बीच वनों में किया जा रहा है. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के उपग्रह -काटरेसैट और आरआईसैट भी इलाके की तस्वीरें ले रहे हैं. पूर्वी वायु कमान के एयर ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ एयर मार्शल आर.डी. माथुर तलाशी और बचाव अभियान को देख रहे हैं. उन्होंने वायुसेना के लापता कर्मियों के परिजनों से बातचीत भी की.

इसके अलावा, सेना, भारत-तिब्बत सीमा पुलिस, अरुणाचल पुलिस और स्थानीय समुदाय भी जमीन पर लापता विमान की खोज में लगे हुए हैं. वायुसेना के प्रवक्ता विंग कमांडर रत्नाकर सिंह ने कहा, “तलाशी अभी भी जारी है लेकिन लापता एएन-32 को अभी तक नहीं ढूढ़ा जा सका है.” सोमवार को, एएन-32 परिवहन विमान ने असम के जोरहाट से अरुणाचल प्रदेश के शी योमी जिले में स्थित मेचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड के लिए उड़ान भरी थी. विमान का अपराह्न् 1.30 बजे ग्राउंड स्टाफ से संपर्क टूट गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *